बस इक ख्वाहिश…..

वो थी जिन्दगी मे तो शायरी भी थी,आशिकी भी थी।
कहीं गुम सी हो गई वो तो शायरी भी नहीं,आशिकी भी नहीं।

शायरी भी उनकी थी,आशिकी भी उनकी थी।

वो लफ्ज़ भी उनकी थी,वो बातें भी उनकी थीं।

दिल सुनता भी उन्हीं को था,

दिल समझता भी उन्हीं को था,

ना जाने कैसे ये दूरी बन गई,

ना जाने क्यों वो हमसे दूर गई,

ना जाने क्या हुआ है. आजकल,

रोने को अश्क ही नहीं,

बोलने को लफ्ज़ ही नहीं,

मन समझता नहीं दिल सम्भलता नहीं,

ये क्या हो रहा है ये क्यों हो रहा है,

है कैसी ये बेबसी अपनी,

सब खत्म सी हो गई अपनी,

इक ख्वाहिश ही अब बची दिल की

फिर मिलें हम फिर हसें हम,

फिर शायद वो शायरी आ जाये,

फिर शायद वो आशिकी आ जाये,

फिर शायद वो हँसी आ जाये,

अब बस इसी इक ख्वाहिश के लिए,

जिन्दगी भी बची है बन्दगी भी बची है।

                                                      ~ ANKIT VERMA

Published by ANKIT VERMA

I believe in love and relationship because that's the thing in our life that give us a motivation to do anything. Otherwise there's nothing to do because there's big blank if someone ask question like for what ? For example you got lot of money and there's no one around you then what you do with that answer is what ? Blank. SO relation is must dose'n matter it's positive or negative but it must.

15 thoughts on “बस इक ख्वाहिश…..

  1. फिर शायद वो शायरी आ जाये,

    फिर शायद वो आशिकी आ जाये,

    फिर शायद वो हँसी आ जाये, 

    अब बस इसी इक ख्वाहिश के लिए,

    जिन्दगी भी बची है बन्दगी भी बची है….बहुत खूब।

    Liked by 2 people

  2. Bus ab taiyaar ho jaao-minya Ghalib ya mir ya faiz ban ne ki khatir…pyaar ke raste bahut lambe hote hein.kadam ruk nahi sakte….mehbooba mile ya uska saaya-chalte hi jaana he.
    Vese bahut sunder likha he aapne.ibtdaaye ishq me rota he kya;aage aage dekhye hota he kya….

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: